ब्लू फिल्म के शॉट दिखाओ

आई मुलाची झवाझवी

आई मुलाची झवाझवी, पर अभी सतीश का मूड ओरल सेक्स करने का बिलकुल भी नहीं था वो तो बस अपने लंड को चुत में डालकर चुदाई करना चाहता था... सतीश ने श्वेता के होंठों को चूमना चालू किया. श्वेता आँखें बंद करके सतीश का साथ दे रही थी. एक हाथ से सतीश नीचे श्वेता के स्तनों को रगड़ रहा था. आँखें बंद करके अपनी स्तनों को मसलवाने का श्वेता पूरा मजा ले रही थी.

घर पर जाकर रीत वही सब सोच रही होती है जिसकी वजह से वो परेशान हो रही होती है। बैठी सोच रही होती है की अब उसके साथ ये क्या हो रहा है। तभी रिंकू का फोन आ जाता है और उसे ना चाहते हुए भी मजबूरी में फोन उठाना पड़ता है और वो फोन उठा लेती है। सरोज - (हँसते हुए।। ) होंगे बाबूजी मुझे नहीं मालूम।। अभी तो मुझे इतना पता है की मेरी नवेल को मेरे पति और ससुर दोनों बहुत पसंद करते है

Reet sun kar shaitani bhari smile pass karte hue boli – Ohh kuch nhi didi, main toh aise hi Malik ke sath baten kar rhi thi. आई मुलाची झवाझवी की तरह उबल रही है। मन तो करता है, की भाभी को घोड़ी बनाकर उसकी सलवार फाड़ दूं, और फिर अपना लण्ड सीधा एक झटके में पूरा अंदर डाल दूं..

एक्स वीडियो हिंदी गाना

  1. सतीश अब फुल नुड प्रियंका के सामने था, और उसका लौडा पूरी तरह से खड़ा अब खुली हवा में सांस ले रहा था...
  2. बहु ने अपने पापा के लंड की स्किन नीचे कर खोल दी उनके लंड से महक आ रही थी, बहु अपनी नाक लंड पे रगडने लगी।। एक्स एक्स एक्स वीडियो 2020
  3. मैंने कहा- देखते हैं, आप क्या करती हो? क्योंकि ऐसा बहुत कुछ है जो मैंने देखा है तो जरूरी नहीं कि इसे जिंदगी भर याद रख ही लूँगा. मेरे जाते ही सब नाश्ता करने लगते है, मे नाश्ता करते हुए अपना लेफ्ट हैंड माँ की चुत पर कपडे के ऊपर से ही रख कर मसल देता हु... माँ एक दम से चिहुँक उठती है...
  4. आई मुलाची झवाझवी...फिर सतीश ने उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके स्तन दबाने आरम्भ किए.. वो सिसकारियाँ भरने लगी और ‘आआआहह.. आआहह..’ करने लगी. मीता पीछे से अपना लण्ड चरणजीत के चूतरों में दबाकर बोला- क्या करूँ भाभी? जब तुझे गाण्ड मटकाते हुए चलती हो तो कसम से मुझसे रहा नहीं जाता। और मैंने सुना है तेरा पति सरदार तुझे हाथ तक नहीं लगाता...
  5. मै - (मैं मन में सोच रहा था। बहु इतना नादान तो नहीं हो सकती।। कहीं ये जानबूझ के अनजान तो नहीं बन रही। ? लेकिन बहु ऐसा क्यों करेगी? ) अब हमदोनो ने बहू को चोद चोदकर पूरी बेशर्म बना दिया था।मेरी रंडी बहु को हमदोनो दिनभर और रातभर घर में नंगी ही रखते और कभी चूत तो कभी गांड मारते रहते।कभी कभी हमदोनो मेरी बहु को एकसाथ भी पेलते।बहु अब इतनी बेशर्म हो गई थी की घर में कही भी मेरा या अपने पापा का लंड चूसकर उसका मुठ पि जाती थी।

एक्स वीडियो एचडी देसी

इधर सोनाली अपने सपने मे – आह आह उफ़्फ़फ़ डार्लिंग और जोर से हाँ ऐसे ही करते रहो बहोत अच्छा लग रहा है और जोर से दबाओ आह्ह्ह्ह....

श्वेता के दोनों हाथों को रस्सी से बांध कर पुल-बार (खींचने के लिए) से लटका दिया. सतीश को व्यायाम करना काफी पसंद है तो सतीश ने पुल अप्स करने के लिए कमरे में ही पुल-अप बार लगवा रखा था. उसे इसी हालत में छोड़ कर सतीश बाथरूम में फ्रेश होने के लिए चला गया. फ़िर तुम मुझे घसीट के बेड के किनारे पर ले आते हो, खुद जमीन पर खड़े हो जाते हो और मेरी टांगें चौड़ी करके अपने कन्धों पे रख लेते हो और पूरी गति में चोदने लगते हो. इस स्थिति में तुम्हारा लंड पूरा मेरी चूत में बहुत अन्दर तक जा रहा है. तुम जोर से झटका मारते हो और मेरी चूत में कुछ गरम गरम लगता है.

आई मुलाची झवाझवी,उधर कालू उस चीज़ पे से अच्छी तरह से मिट्टी हटा चुका था, और उस चीज़ को देख के उसके चेहरे पे एक बड़ी सी मुस्कान आ गयी,

सोनाली तुरंत सीधी होकर उसके लंड को अपने मुह मे लेकर चुसना सुरु कर देती है... और थोड़ी देर मे ही चूसकर उसके लंड को साफ़ कर देती है...

सुखजीत गगन के सिर को अपने हाथ से अपनी चूचियों में दबाकर पूरा स्वाद ले रही थी। गगन सुखजीत की चूचियों को चूसते हुए, उसकी सलवार और पैंटी दोनों उतार देता है, और उसकी टांगों से पैंटी और सलवार उतारकर साइड में फेंक देता है।ब्लू फिल्म ब्लू फिल्म हिंदी में

हरी रीत की तरफ देखता है और रीत भी एक प्यारी सी स्माइल कर देती है। आज से पहले रीत ने कभी भी हरी को स्माइल नहीं करी थी। और तो और उसने कभी उसकी तरफ आज से पहले देखा तक नहीं था। पर आज रीत जैसी कमाल सेक्सी जट्टी की सेक्सी स्माइल देखकर धन्य हो जाता है, और बोला। मै मन ही मन मुस्कराता रहा।। शमशेर तुझे क्या मालूम मैंने तो अबतक २ बार बहु के मुह में अपना लंड का पानी छोड़ा है।

Sukh apne room ko lock karti hai aur kurti nikal deti hai aur dono hath piche karke apni bra ka hook khol deti hai. Aur fir wo ek t shirt nikal kar dal leti hai. Niche wo apni patialaya shahi salwar hi dalti hai.

Do din ki pyasi sukh bhi lund lene ko betab thi aur wo paed se chilli hui thi. Toh tabhi pyarelal kehta hai- Bhabhi tu yha dar mat kyoki yha koi nhi ata hai,आई मुलाची झवाझवी सुखजीत की चूचियां ब्रा के बिना ज्यादा हिलने लगती हैं। फिर वो जगरूप के पास जाती है। वो देखती है की जगरूप पहले से काफी खुश लग रही थी। आखीरकार, खुश क्यों ना हो, वो अभी-अभी जवान लड़के से चुदकर आई थी।

News